समाचार
जमानत खारिज होने के बाद चिदंबरम गिरफ्तारी के डर से हुए लापता, सीबीआई खोज में

आईएनएक्स मीडिया घोटाले में दिल्ली उच्च न्यायालय से अग्रिम जमानत अर्जी खारिज होने के बाद पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम लापता हो गए हैं। सीबीआई उनके घर पर दो बार दबिश दे चुकी है लेकिन वह मिले नहीं। जाँच एजेंसी उनकी तलाश में जुटी है।

नवभारत टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, चिदंबरम ने गिरफ्तारी से बचने के लिए सर्वोच्च न्यायालय में याचिका दाखिल की है। सीबीआई टीम मंगलवार देर रात उन्हें गिरफ्तार करने घर पहुँची थी लेकिन वह मिले नहीं। अधिकारियों ने घर के बाहर नोटिस चिपकाकर उन्‍हें दो घंटे के भीतर पेश होने का निर्देश दिया था। इसके बावजूद उनकी कोई जानकारी नहीं है।

इससे पहले, भी सीबीआई चिदंबरम के घर गई थी लेकिन वह नहीं मिले थे। वहीं, कुछ देर बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की टीम भी वहाँ पहुँची थी। दोनों जाँच एजेंसियाँ लगातार उनसे संपर्क करने की कोशिश में जुटी हैं लेकिन चिदंबरम का फोन बंद आ रहा है।

रिपोर्ट के अनुसार, पूर्व वित्त मंत्री चिदंबरम अपने वकीलों के साथ सर्वोच्च न्यायालय में शाम 5 बजे तक मौजूद रहे थे। दिल्ली उच्च न्यायालय ने चिदंबरम की गिरफ्तारी पर तत्काल सुनवाई से इनकार कर इसे बुधवार को सुनने की बात कही थी।

चिदंबरम के वकील अर्शदीप सिंह खुराना ने जाँच एजेंसी को पत्र लिखकर पूछा, “मेरे मुवक्किल के घर के बाहर जो नोटिस चस्‍पा है, उसमे यह नहीं बताया कि आखिर किस कानून के तहत उनको 2 घंटे में पेश होने के लिए कहा गया। सर्वोच्च न्यायालय में तत्‍काल विशेष अवकाश याचिका दायर करने की अनुमति मिली है। इस पर बुधवार को सुनवाई होगी। तब तक सीबीआई किसी तरह की कोई कार्रवाई न करें।”