समाचार
सचिन वाझे के घर से 62 जिंदा बेहिसाबी कारतूस मिले, 25 सरकारी गोलियाँ गुम- एनआईए

एक प्रमुख विकास में राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने मुंबई पुलिस के दागी अधिकारी सचिन वाझे के घर की छानबीन के दौरान 62 जिंदा कारतूस बरामद किए गए हैं, जिनका कोई हिसाब-किताब नहीं है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, बरामद हुईं इन गोलियों के बारे में एक विशेष अदालत को सूचित करते हुए एनआईए ने यह भी कहा कि आधिकारिक गोला-बारूद, जो सचिन वाझे को आवंटित किया गया था, उसके आवास से 30 में से केवल पाँच गोलियाँ बरामद हुई थीं और बाकी गायब थीं।

एनआईए का प्रतिनिधित्व करते हुए अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल अनिल सिंह ने न्यायालय के समक्ष कहा कि एक पुलिस अधिकारी को दी गई हर एक गोली का उसे जवाबदेह होना चाहिए। अब एनआईए उस उद्देश्य का पता लगाना चाहती है, जिसके लिए 25 लापता गोलियों का उपयोग किया गया था। साथ ही किस संरक्षण के तहत उसने इसके बारे में जानकारी नहीं दी।

सचिन वाझे की हिरासत के विस्तार की मांग करते हुए अनिल सिंह ने कहा, “उनके घर में भारी मात्रा में गोलियाँ क्यों रखी गई थीं? क्या यह एक गहरी साजिश है?”

उन्होंने न्यायालय को यह भी बताया कि जाँच में पता चला है कि वाझे ने ओबेरॉय होटल में 100 दिनों के लिए 12 लाख रुपये का भुगतान करके एक सूट (कमरे) बुक किया था। कमरा बुक करने के लिए उसने एक नकली आधार कार्ड का इस्तेमाल किया था। विशेष अदालत ने 3 अप्रैल तक वाझे को एनआईए की हिरासत में भेज दिया है।