समाचार
एंटीलिया के बाहर बम मामले में वाझे संभवतः दो लोगों का एनकाउंटर करना चाहता था

मुंबई पुलिस के गिरफ्तार किए गए निलंबित अधिकारी सचिन वाझे के घर पर राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) को छापेमारी के दौरान एक पासपोर्ट मिला था, जो एंटीलिया मामले के महत्वपूर्ण सबूतों में से एक है। अब जाँचकर्ता इस पूरे मामले की पहेली को हल करने की कोशिश में जुट गए हैं।

इंडियन एक्सप्रेस को पता चला है कि एजेंसी जिस अनुमान पर काम कर रही है, उनमें से एक है कि वाझे, जिसे एनकाउंटर स्पेशलिस्ट के रूप में जाना जाता है का कथित रूप से उस पासपोर्ट धारक और एक अन्य व्यक्ति को खत्म करने का इरादा था।

एजेंसी को संदेह था कि मुकेश अंबानी के घर के बाहर 25 फरवरी को मिलने वाली जिलेटिन की छड़ों से भरी एसयूवी को लेकर इन दो लोगों को निशाना बनाया जाना था। उसी दिन इस मामले को बंद करके मामले को हल कर देना था।

जाँच करने वाले अधिकारियों ने कहा कि दोनों व्यक्तियों का आपराधिक रिकॉर्ड था और जिसके बारे में वाझे को भी पता था। पासपोर्ट 17 मार्च को वाझे के घर में छापे के दौरान मिला था।

एनआईए के जाँच से जुटे एक अधिकारी ने बताया, “हालाँकि, एक फर्जी मुठभेड़ में दो लोगों को कथित रूप से मारने की योजना को अंजाम तक नहीं पहुँचाया जा सका क्योंकि सचिन वाझे ने एंटीलिया के बाहर एसयूवी के कुछ घंटों के भीतर जाँच का नियंत्रण खो दिया था और महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधी दस्ते (एटीएस) ने मामले को अपने हाथों में ले लिया था।”