समाचार
पूर्व वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ- “अगर अभिनंदन वर्तमान राफेल उड़ाते तो परिणाम अलग होता”

पूर्व वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ ने कहा कि फरवरी 2019 में एक भारतीय फ़ाइटर पायलट को पाकिस्तान द्वारा पकड़ लिया गया था और बाद में रिहा कर दिया गया था लेकिन अगर वह मिग-21 के बजाय राफेल उड़ा रहा होता तो अलग तरह के नतीजे सामने आते।

पायलट विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान ने एक पाकिस्तानी एफ-16 को मार गिराया था जिसके बाद उनके मिग-21 बाइसन को एएमआरएएएम मिसाइल ने मार गिराया था (पाकिस्तान इस बात से इनकार करता है कि उसने कभी भी डॉगफाइट में एफ -16 का इस्तेमाल किया था।)

इंडिया टुडे की खबर के अनुसार पूर्व वायुसेना प्रमुख ने  आईआईटी-मुंबई के कार्यक्रम में कहा, “100 प्रतिशत नतीजा अलग होता।”

धनोआ ने पिछली यूपीए सरकार का नाम लिए बिना कहा, “वह (वर्तमान) एक राफेल क्यों नहीं उड़ा रहा था? क्योंकि आपको यह तय करने में 10 साल लग गए कि कौन सा विमान खरीदना है। इसलिए, इस (देरी) ने ही आपको प्रभावित करती है।”

अपने भाषण में, पूर्व वायुसेना प्रमुख ने रक्षा अधिग्रहण प्रणाली के राजनीतिकरण के जोखिमों के बारे में चेतावनी दी, “पूरी प्रणाली पीछे चली जाती है”, और “अन्य सभी फाइलें भी धीमी गति से बढ़ने लगती हैं क्योंकि लोग बहुत सचेत होने लगते हैं,” उन्होंने कहा और विशिष्ट रूप से विवादास्पद बोफोर्स सौदे का उल्लेख किया।

मार्च 2019 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि भारतीयों ने हाल की घटनाओं पर विश्वास किया है (जो पाकिस्तान के साथ सैन्य वृद्धि के संदर्भ में था) कि भारत के पास राफेल होता तो नतीजे अलग होते।

धनोआ ने प्रधानमंत्री की टिप्पणियों का समर्थन किया, “लोग कह रहे हैं कि यह एक राजनीतिक बयान है लेकिन तथ्य यह है कि उन्होंने जो बयान दिया है वह सही है।”

उन्होंने कहा, “अगर हमारे पास राफेल होता, तो सवाल बिल्कुल अलग होता।”