समाचार
ओएफबी द्वारा मास्क और सुरक्षा उपकरण बनने शुरू, 285 लोगों को अलग रखने की सुविधा

कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ाई में चिकित्सा उपकरणों की ज़रूरत आने वाले दिनों में बढ़ने की संभावना है। इसे देखते हुए आयुध निर्माणी बोर्ड (ओएफबी) ने व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण और फेस मास्क बनाने का काम शुरू कर दिया है।

ओएफबी ने 285 लोगों के लिए पृथक सुविधाएँ भी स्थापित की हैं। रक्षा मंत्रालय ने कहा, “शुरुआती ऑर्डर एचएलएल लाइफकेयर लिमिटेड (एचएलएल) की ओर से रखे गए हैं, जो स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के तहत एक सार्वजनिक उपक्रम है।”

रक्षा मंत्रालय ने बुधवार (25 मार्च) को कहा, “आयुध निर्माणी बोर्ड ने कोरोनावायरस के मामलों से 285 लोगों के बचाव के लिए देशभर में पृथक सुविधाएँ भी स्थापित की हैं।”

वाहन फैक्ट्री जबलपुर के अस्पतालों में 40 बेड बनाए गए हैं। मेटल एंड स्टील फैक्ट्री इशापोर, गन एंड शैल फैक्ट्री कोसीपोर, गोला-बारूद फैक्ट्री खड़की, ऑर्डिनेंस फैक्ट्री कानपुर, ऑर्डिनेंस फैक्ट्री खमरिया और ऑर्डिनेंस फैक्ट्री अंबाजारी में प्रत्येक में 30 बेड हैं।

ऑर्डिनेंस फैक्ट्री अंबरनाथ में 25 बेड और हेवी व्हीकल फैक्ट्री अवाडी, ऑर्डिनेंस फैक्ट्री मेडक में 20 बेड हैं। मंगलवार को कैबिनेट सचिव की बैठक में ओएफबी अस्पतालों में आइसोलेशन वॉर्ड और संबंधित बेड की संख्या की स्थापना स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के निर्देशानुसार ओएफबी के अध्यक्ष ने की।