समाचार
समुद्र सेतु अभियान- मालदीव से नौसेना के युद्धपोत ने 700 और भारतीयों को निकाला

भारतीय नौसेना का सबसे बड़ा युद्धपोत आईएनएस जलश्वा 15 मई को समुद्र सेतु अभियान के तहत मालदीव से अपने दूसरे स्वदेश वापसी के क्रम में करीब 700 और भारतीयों को निकालने के लिए तैयार है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, वहाँ से लाए गए भारतीय नागरिकों को कोच्चि लाया जाएगा, जिसके बाद उन्हें 14 दिनों के लिए पृथक केंद्रों में रखा जाएगा। पिछली 10 मई को आईएनएस जलश्वा ने मालदीव से कोरोनावायरस के बाद हुए लॉकडाउन में वहाँ फंसे 698 भारतीयों को निकाला था।

इस बीच मंगलवार को (12 मई) को भारतीय नौसेना का एक और उभयचर युद्धपोत मालदीव से कोच्चि लौटा था, जिसमें 202 लोग स्वदेश वापस आए थे।

कुल मिलाकर 1,800-2000 भारतीय नागरिकों को नौसेना के दो युद्धपोतों से मालदीव से निकाले जाने की उम्मीद है। मालदीव में लगभग 4,500 भारतीयों की एक बड़ी आबादी है, जिन्होंने भारत लौटने की इच्छा व्यक्त की है। इस बीच, यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि मालदीव लगभग 27,000 भारतीय नागरिकों का घर है।