समाचार
भारत की सिफारिश पर यूएन ने 21 मई को घोषित किया अंतर-राष्ट्रीय चाय दिवस

भारत की सिफारिश के बाद संयुक्त राष्ट्र महासभा (यूएन) ने 21 मई को अंतर-राष्ट्रीय चाय दिवस घोषित किया है। वर्तमान में 15 दिसंबर को चाय उत्पादन करने वाले देश इस दिवस को मनाते हैं।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, संयुक्त राष्ट्र महासभा ने अपनी अधिसूचना में कहा, “हम विश्व की ग्रामीण अर्थव्यवस्था में चाय के योगदान को लेकर दुनिया को जागरूक करना चाहते हैं। इसका उद्देश्य 2030 के सतत विकास से जुड़े लक्ष्यों को पूरा करना है।”

संयुक्त राष्ट्र को भरोसा है कि 21 मई को अंतर-राष्ट्रीय चाय दिवस घोषित करने से इसके उत्पादन और खपत बढ़ाने में मदद मिलेगी। यह गाँवों में भूख और गरीबी से लड़ने में मददगार साबित होगी। साथ ही संयुक्त राष्ट्र महासभा ने चाय के औषधीय गुणों के साथ सांस्कृतिक महत्व को भी मान्यता दी है।

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र ने सभी सदस्य देशों, अंतर-राष्ट्रीय और क्षेत्रीय संगठनों से अपील की कि वह हर साल 21 मई को अंतरराष्ट्रीय चाय दिवस के रूप मनाएँ। भारत ने चार साल पहले मिलान में हुई अंतर-राष्ट्रीय खाद्य और कृषि संगठन (एफएओ) के अंतर सरकारी समूह की बैठक में यह प्रस्ताव पेश किया  था।