समाचार
हिरासत में रहने के दौरान भिड़ गए थे महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला, रखा गया अलग

जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद हिरासत में लिए गए राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती के बीच हरि निवास पैलेस में तीखी बहस हुई थी।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, कथित तौर पर उनके बीच लड़ाई इतनी बढ़ गई थी कि अधिकारियों को उन्हें अलग-अलग स्थानों पर रखना पड़ा था। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि दोनों नेताओं ने एक-दूसरे पर भाजपा के जम्मू-कश्मीर में प्रवेश करने में मदद के आरोप लगाए थे।

रिपोर्ट में दावा किया गया कि हिरासत में रहने के दौरान सरकारी अतिथि गृह हरि निवास पैलेस के कर्मचारियों ने भी दोनों नेताओं को एक-दूसरे पर मौखिक हमला करते हुए स्पष्ट रूप से सुना था। इसके बाद दोनों को अलग-अलग मंजिलों पर रखा गया था।

इस बहस के दौरान कथित तौर पर अब्दुल्ला ने 2015 और 2018 के बीच भाजपा के साथ गठबंधन करने के लिए महबूबा मुफ्ती और उनके दिवंगत पिता पर ताना मारा था। मुफ्ती ने जम्मू-कश्मीर के भारत में प्रवेश के लिए शेख अब्दुल्ला (उमर के दादा) को दोषी ठहराते हुए कथित रूप से पलटवार किया था। उन्हें एनडीए के नेतृत्व वाले अटल बिहारी बाजपेयी की सरकार के साथ गठबंधन की याद दिलाई थी।

जैसे-जैसे लड़ाई बढ़ती गई, अधिकारियों ने उन्हें अलग करने का फैसला किया। इसके बाद मुफ्ती को गेस्ट हाउस में रखा गया और अब्दुल्ला को वन विभाग के स्वामित्व वाली बड़ी सी झोपड़ी में स्थानांतरित कर दिया गया था।