समाचार
ओला तमिलनाडु में ईवी विनिर्माण संयंत्र स्थापित करने को ₹2,400 करोड़ का निवेश करेगा

ओला ने सोमवार को कहा, “वह तमिलनाडु में अपना पहला इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) विनिर्माण संयंत्र स्थापित करेगा। वह अपने नए बिज़नेस को बढ़ाने के लिए 2,400 करोड़ रुपये का निवेश करेगा। इसका उद्देश्य भारत और अन्य बाज़ारों में ग्रीन व्हीकल टेक्नोलॉजी को बेचना है।

मिंट की रिपोर्ट के अनुसार, कंपनी के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी भाविश अग्रवाल ने कहा, “यह संयंत्र लगभग 10,000 नौकरियाँ के अवसर देगा। ओला के लिए यह एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर है और हमारे देश के लिए एक गौरवशाली क्षण। हम तेजी से साझा और स्वामित्व वाली गतिशीलता के लिए दुनिया को स्थायी गतिशीलता समाधानों की ओर ले जाने के अपने दृष्टिकोण को साकार करने की दिशा में कदम बढ़ा रहे हैं। यह दुनिया में सबसे उन्नत विनिर्माण सुविधाओं में से एक होगा।”

कपंनी अपने अच्छी तरह से वित्त पोषित ईवी आर्म पर बड़ा दांव लगा रही है। उसका उद्देश्य 2021 की पहली तिमाही तक भारत, ऑस्ट्रेलिया, नीदरलैंड, न्यूजीलैंड सहित अन्य जगहों पर अपने स्कूटर उतारना है।

ईवी सेगमेंट में ओला का प्रवेश तब हुआ है, जब भारत में ऑटोमोबाइल सेक्टर प्रदूषण के खतरे को रोकने के लिए हरित तकनीकों और टिकाऊ परिवहन समाधानों की ओर तेजी से कदम बढ़ा रहा है।

कंपनी ने कहा, “ओला की फैक्ट्री यूरोप, एशिया और लैटिन अमेरिका के बाज़ारों में काम करेगी। विनिर्माण सुविधा लगभग 18 महीनों में पूरी होगी और पहले वर्ष में लगभग 10 लाख वाहन बेचने का लक्ष्य है।”

अधिकारियों ने कहा, “कर्नाटक के साथ राज्य के भीतर संयंत्र स्थापित करने के लिए बातचीत हो रही है। हमने अपने स्कूटर को सबसे पहले बाजार में उतारने की योजना बनाई है।” हम दो, तीन और यहाँ तक कि चार पहिया वाहनों की अन्य श्रेणियों में भी काम करेंगे। हम सभी ईवी श्रेणियों में उत्पाद रखना चाहते हैं।”