समाचार
राम मंदिर पर न्यायालय के निर्णय से पहले कानून व्यवस्था के लिए योगी सरकार की तैयारी

अयोध्या में राम मंदिर विवाद पर सर्वोच्च न्यायालय में सुनवाई चल रही है, इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसपर कड़ा रूख अपनाया है।

मुख्यमंत्री ने कल (25 सितंबर) लखनऊ में हुई पुलिस विभाग के साथ बैठक में अधिकारियों से कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए ज़रूरी कदम उठाने को कहा। साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा कि राम मंदिर पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के बाद राज्य में किसी तरह की अनहोनी नहीं होनी चाहिए।

हिंदुस्तान  की रिपोर्ट के अनुसार, मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि फैसला आने से पहले थाने स्तर पर तैयारी शुरू करें और स्थानीय पुलिस इंटेलिजेंस विभाग के साथ मिलकर काम करें।

बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने सभी एडीजी से अपने क्षेत्र की जिले के पुलिस अधीक्षक पर नज़र बनाए रखने का भी आदेश दिया और कहा कि जरुरत पड़ने पर इनकी रिपोर्ट प्रशासन को करें।

न्यूज़ 18 की रिपोर्ट के अनुसार, इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि राम मंदिर पर सर्वोच्च न्यायालय के फैसले का वे सम्मान करेंगे और जो भी फैसला होगा, उसको उनकी सरकार लागू करेगी। राममंदिर और बाबरी मस्जिद के विवाद की सुनवाई सर्वोच्च न्यायालय की संवैधानिक पीठ प्रतिदिन के अनुसार कर रही हैं।