समाचार
आरटीआई में 70 लाख के नवीनीकरण की सूचना पर ओडिशा के आईएएस का तबादला

आरटीआई में मिली जानकारी के बाद सुंदरगढ़ के डीएम रश्मिता पान्डा का तबादला ओडिशा सरकार ने कर दिया है। द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) अधिकारी पर राउरकेला में अपने आधिकारिक आवासीय क्वार्टरों के नवीनीकरण के लिए छह महीने में 70 लाख रुपये खर्च करने का आरोप है।

यह जानकारी आरटीआई कार्यकर्ताओं द्वारा दायर किए गए अनुरोधों के बाद सामने आई। इसमें पता चला कि अधिकारी ने 68.57 लाख रुपये खर्च करके अपने सरकारी आवास का नवीनीकरण करवाया था। ओडिशा सूचना अभियान के संयोजक प्रदीप प्रधान ने आरोप लगाया, “निविदा प्रक्रिया से बचने के लिए खर्च के प्रत्येक परियोजना लागत को जानबूझकर 5 लाख रुपये से कम रखा गया था और नवीनीकरण के लिए कोई निविदा नहीं बुलाई गई थी।

अनुमानित व्यय विवरण से पता चला कि मच्छरदानी पर 4.04 लाख, पेंटिंग पर 4.45 लाख, बाहरी और आंतरिक विद्युतीकरण पर 10 लाख और नालों व एक पोर्टिको के निर्माण पर 4.44 लाख रुपये खर्च किए गए। वहीं, गार्ड रूम व अतिरिक्त डाइनिंग रूम का निर्माण, चहारदीवारी की ऊँचाई बढ़ाना और स्लाइडिंग विंडो को ठीक करने सहित प्रत्येक में 4 लाख रुपये खर्च किए गए।

पांडा अब ओडिशा कौशल विकास प्राधिकरण के रोजगार सह मुख्य कार्यकारी अधिकारी के निदेशक के रूप में काम करेंगे। 2010 बैच के आईएएस तबादले से पहले राउरकेला विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष, राउरकेला नगर निगम के आयुक्त और राउरकेला स्मार्ट सिटी प्राधिकरण के सीईओ थे।