समाचार
एएमयू में भड़काऊ भाषण देने वाले डॉक्टर कफील खान पर लगा रासुका तीन महीने बढ़ा

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (एएमयू) में भड़काऊ भाषण देने वाले गोरखपुर के डॉक्टर कफील खान पर लगा राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (रासुका) को गृह मंत्रालय ने तीन महीने के लिए बढ़ा दिया है। वह वर्तमान में मथुरा जेल में बंद हैं।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, अलीगढ़ के जिला मजिस्ट्रेट चंद्रभूषण सिंह ने कहा, “डॉ. कफील खान पर लगाई गई रासुका में तीन महीने की बढ़ोतरी की गई है। गृह मंत्रालय से इस संबंध में रेडियोग्राम आ गया है। 13 अगस्त तक कफील रासुका में निरुद्ध रहेंगे।”

बात दें कि नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) के विरोध में एएमयू में आयोजित प्रदर्शन के दौरान कफील ने भड़काऊ भाषण दिया था। आरोप है कि इस दौरान उन्होंने गृह मंत्री अमित शाह के विरुद्ध भी टिप्पणी की थी। अलीगढ़ के सिविल लाइंस पुलिस स्टेशन में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।

उन्हें 29 जनवरी को मुंबई हवाई अड्डे से गिरफ्तार किया गया था। कफील खान पहली बार अगस्त 2017 में सुर्खियों में तब आए थे, जब उन्हें गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में 60 से अधिक बच्चों की मौत के लिए दोषी ठहराया गया था।