समाचार
बिहार में नहीं लागू होगा एनआरसी, संशोधन के साथ लागू होगा एनपीआर

बिहार में राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी) लागू नहीं होगा। इसको लेकर मंगलवार को विधानसभा में सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित कर दिया गया है। इसके अलावा, राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) में संशोधन के लिए भी सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित हुआ है।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, बिहार विधानसभा में एनआरसी और एनपीआर के प्रस्ताव पर चर्चा हुई। विधानसभा के अध्यक्ष विजय चौधरी ने सदन में प्रस्ताव पारित किया। 2010 के आधार पर अब एनपीआर कराने का प्रस्ताव पारित किया गया है, जिसमें माता-पिता की जानकारी देना जरूरी नहीं होगा।

इससे पहले, विधानसभा में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने फिर से ऐलान किया कि बिहार में एनआरसी का कोई मतलब ही नहीं है। एनआरसी को लेकर बेवजह का हौवा खड़ा किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी कह चुके हैं कि एनआरसी की कोई बात ही नहीं हो रही है।

बता दें कि सीएए और एनआरसी को लेकर देशभर के कई हिस्सों में विरोध प्रदर्शन जारी हैं। बिहार में भी विरोध प्रदर्शन हो रहे है। इसी साल राज्य में विधानसभा चुनाव भी होने हैं।