समाचार
कुणाल को सर्वोच्च न्यायालय की अवमानना मामले में नोटिस जारी, 6 हफ्ते में मांगा जवाब

स्टैंडअप कॉमेडियन कुणाल कामरा को सर्वोच्च न्यायालय की अवमानना के मामले में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। शुक्रवार (18 दिसंबर) को न्यायालय ने अवमानना याचिका पर सुनवाई की, जिसमें उनसे 6 हफ्ते में जवाब मांगा गया है।

एनडीटीवी इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, सर्वोच्च न्यायालय ने कुणाल कामरा से जवाब मांगा है कि क्यों उनके खिलाफ अवमानना का मामला न चलाया जाए। हालाँकि, न्यायालय ने उन्हें व्यक्तिगत पेशी की छूट दी है।

स्टैंडअप कॉमेडियन के खिलाफ अवमानना की याचिका डालने वाले वकील निशांत कातनेश्वरकर ने कहा था, “उनके पोस्ट ने जनता की दृष्टि में न्यायपालिका के सम्मान को कम किया है। ये अपमानजनक है।” याचिकाकर्ता ने कार्रवाई को लेकर अटॉर्नी जनरल केके वेणुगोपाल से स्वीकृति मांगी थी। उन्होंने भी कहा था, “कुणाल के ट्वीट अवमानना के दायरे में आते हैं।” उन्होंने इस मामले को चलाने की अनुमति दे दी थी।

बता दें कि 18 नवंबर को कुणाल कामरा द्वारा किए गए ट्वीट में भारत के मुख्य न्यायाधीश के बारे में अश्लील और अपमानजनक इशारे किए गए थे। इससे पूर्व, कामरा ने पत्रकार अर्णब गोस्वामी को जमानत मिलने के बाद जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ पर अपमानजनक टिप्पणी की थी।