समाचार
कल्पना चावला के नाम पर रखा नॉर्थरोप ग्रुमैन ने अपना अगला सिग्नस अंतरिक्ष यान

नॉर्थरोप ग्रुमैन ने अंतरिक्ष स्टेशन में चीजें पहुँचाने वाले अपने अगले अंतरिक्ष यान का नामकरण भारतीय मूल की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री डॉक्टर कल्पना चावला के नाम पर किया है। अधिकारियों ने मंगलवार (8 सितंबर) को इसकी घोषणा की।

बीडब्ल्यू बिज़नेस वर्ल्ड की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा, “एसएस कल्पना चावला नाम का नॉर्थरोप ग्रुमैन का अगला सिग्नस अंतरिक्ष यान अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष क्षेत्र में लॉन्च किया जाएगा। इसका नाम कोलंबिया अंतरिक्ष यात्री के सम्मान में नामाँकित किया गया है।”

नॉर्थरोप ग्रुमैन ने अपने बयान में कहा, “पूर्व अंतरिक्ष यात्री के नाम पर एनजी-14 साइग्नस अंतरिक्ष यान का नाम रखने पर नॉर्थरोप ग्रुमैन गर्व महसूस कर रहा। यह कंपनी की परंपरा है कि प्रत्येक सिग्नस का नाम एक ऐसे व्यक्ति के नाम पर रखा जाए, जिसने मानव अंतरिक्ष यान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई हो। कल्पना चावला को अंतरिक्ष में जाने वाली भारतीय मूल की पहली महिला के रूप में इतिहास में उनके अहम स्थान के सम्मान में चुना गया था। मानव अंतरिक्ष यान में उनके योगदान का स्थायी प्रभाव पड़ा है। मिलिए हमारे अगले सिग्नस यान एसएस कल्पना चावला से।”

कंपनी ने कहा, “29 सितंबर को नासा की वॉलॉप्स फ़्लाइट फैसिलिटी से इसे छोड़ा जाएगा। यह सिग्नस अंतरिक्ष यान अंतरिक्ष स्टेशन तक लगभग 3,629 किलोग्राम (8,000 एलबी) माल पहुँचाएगा।” एसएस कल्पना चावला को वर्जीनिया स्पेस के मिड-अटलांटिक रीजनल स्पेसपोर्ट (मार्स) से कक्षा में लॉन्च किया जाएगा।

बता दें कि 16 जनवरी 2003 को अमेरिकी अंतिरक्ष यान कोलंबिया के चालक दल के रूप में अंतरिक्ष गई थीं। 1 फरवरी 2003 को अंतिरक्ष में 16 दिन का सफर पूरा करने के बाद वापसी के दौरान पृथ्वी के वायुमंडल में प्रवेश करते समय और निर्धारित लैंडिंग से सिर्फ 16 मिनट पहले साउथ अमेरिका में उनका यान दुर्घटननाग्रस्त हो गया। हादसे में कल्पना चावला समेत सभी चालक दल मारे गए थे।