समाचार
फरवरी से ही शुरू हो जाएगा 10 करोड़ किसानों को निश्चित आय का हस्तांतरण

2019 के बजट में घोषित छोटे किसानों के लिए आय सहायता योजना के तहत सरकार फरवरी से ही भुगतान करना शुरू कर देगी, प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) की रिपोर्ट ने बताया।

आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा, “1 दिसंबर 2018 से इस योजना को लागू करने का निर्णय लिया गया है। चालू वित्त वर्ष के लिए आवश्यक 20,000 करोड़ रुपये का आवंटन बजट में किया गया है। भूमि रिकॉर्ड से संबंधित डाटा भी उपलब्ध है और हमारे पास छोटे और सीमांत किसानों के बारे में हर तरह की जानकारी है।”

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (पीएम-किसान) के तहत सरकार लगभग 10 करोड़ छोटे किसानों (जिनके पास दो हेक्टेयर से कम भूमि है) के बैंक खातों में 2,000 रुपये की तीन किश्तों में 6,000 रुपये का हस्तांतरण करेगी। उनकी आबादी भारत में  86.21 प्रतिशत है और सामूहिक रूप से वे 47.34 प्रतिशत भूमि के मालिक हैं।

उन्होंने कहा, “वे (कृषि विभाग) फरवरी के महीने में पर्याप्त मात्रा में संवितरण करने की उम्मीद करते हैं। यह कृषि विभाग की अपेक्षा और विश्वास है। वर्तमान सत्र में इस योजना के लिए 20,000 करोड़ रुपये की अतिरिक्त राशि खर्च करने के लिए अनुपूरक प्रस्तुत किए जाएँगे।”

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेंद्र शेखावत ने इकोनॉमिक टाइम्स  को बताया कि पहला भुगतान तकनीकी चुनौतियों का सामना करेगा, लेकिन बाद में हस्तांतरण सुचारु हो जाएगा। उन्होंने कहा, “दूसरे हिस्से का वितरण आसान होगा क्योंकि सभी लाभार्थियों के आधार उनके बैंक खाते से जुड़े होंगे।”