समाचार
डॉक्टर वीके पॉल बोले- “भारत में अभी कोरोनावायरस नहीं पहुँचा है तीसरे चरण में”

भारत में कोविड-19 प्रतिक्रिया के लिए अधिकार समिति के सह-अध्यक्ष डॉक्टर वीके पॉल ने जानकारी दी कि कोरोनावायरस के अभी देश में तीसरे चरण में पहुँचना बाकी है। इसे रोकने के लिए केंद्र सरकार हर तरह की मशक्कत कर रही है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, डॉक्टर पॉल ने कहा, “लॉकडाउन और रोकथाम के सभी उपाय महामारी के तीसरे चरण सामुदायिक प्रसार की शुरुआत को रोकने के लिए हैं।”

सामुदायिक प्रचार का मतलब होगा कि इसमें व्यक्ति के कोविड-19 से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में ना आने और कोई यात्रा न करने के बावजूद जाँच में उसमें वायरस के सकारात्मक लक्षण मिल सकते हैं।

डॉक्टर पॉल ने भरोसा दिया कि देश में स्थिति अभी तक गंभीर मौतों और बीमारी के तीसरे चरण तक नहीं पहुँची है। उन्होंने कहा, “अब आप यह कह सकते हैं कि यह महामारी तीसरे चरण में जाने के लिए तैयार है और हम इसे रोकने के हरसंभव प्रयास की कोशिश कर रहे हैं।”

उन्होंने जाँच किटों की कमी के दावों को भी खारिज किया है। उन्होंने कहा कि परीक्षण किटों की कोई कमी नहीं है। हमारा दृष्टिकोण संसाधनों के अपव्यय को सुनिश्चित करने के लिए निर्धारित है।

डॉक्टर पॉल 32 वर्षों से दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के संकाय सदस्य है। वह गत 10 वर्षों से बाल रोग विभाग के प्रमुख (एचओडी) के रूप में कार्यरत हैं।

उन्हें 2018 में डब्ल्यूएचओ द्वारा प्रतिष्ठित इहसान डॉगरामाकी फैमिली हेल्थ फाउंडेशन पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। अगस्त 2017 में नीति आयोग सदस्य डॉक्टर पॉल को हाल ही में भारतीय चिकित्सा परिषद के बोर्ड ऑफ गवर्नर्स के अध्यक्ष के रूप में नियुक्त किया गया था।