समाचार
सीबीआई हिरासत में 15 दिन रहने के बाद चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका खारिज

पूर्व वित्त मंत्री और दिग्गज कांग्रेसी नेता पी चिदंबरम ने सर्वोच्च न्यायालय से अपनी याचिका वापस ले ली, जिसमें उन्हें सीबीआई हिरासत में रखने को चुनौती दी गई थी। आईएनएक्स मीडिया मामले में प्रर्वतन निदेशालय द्वारा पूछताछ से पहले अग्रिम जमानत याचिका खारिज होने के बाद उन्होंने यह कदम उठाया है।

द ट्रिब्यून  की रिपोर्ट के अनुसार, इससे पहले सर्वोच्च न्यायालय के ने याचिका खारिज करते हुए कहा था, “अग्रिम जमानत देने के लिए यह उपयुक्त मामला नहीं है। जाँच एजेंसी को जाँच करने के लिए पर्याप्त स्वतंत्रता दी जानी चाहिए। इस स्तर पर अग्रिम जमानत देना जाँच में बाधा बनेगा।”

चिदंबरम अभी तक सीबीआई की हिरासत में 15 दिन गुज़ार चुके हैं और इस फैसले के बाद अब उन्हें प्रवर्तन निदेशालय द्वारा नज़रबंदी का सामना करना पड़ सकता है।

गौरतलब है कि आईएनएक्स मीडिया मामले में विदेशी निवेश संवर्धन बोर्ड मंजूरी में कथित अनियमितताएँ मिली थीं, जिसमें तत्कालीन वित्त मंत्री चिदंबरम की भी भूमिका संदिग्ध है। इसी भूमिका पर प्रर्वतन निदेशालय चिदंबरम को हिरासत में लेकर पूछताछ करना चाह रही है।