समाचार
“तेजस्वी यादव 10 लाख नौकरियाँ देने के लिए क्या जेल से लाएँगे पैसे”- नीतीश कुमार

बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर रैलियाँ शुरू हो गई हैं। मंगलवार (20 अक्टूबर) को नीतीश कुमार ने भोरे विधानसभा क्षेत्र में जनसभा के दौरान तेजस्वी यादव पर निशाना साधते हुए कहा, “कुछ लोग दस लाख नौकरियाँ देने का दावा कर रहे हैं लेकिन यह नहीं बता रहे कि इतना पैसा कहाँ से आएगा। वह जिसके लिए जेल गए थे क्या उसी पैसे को निकालकर नौकरी देंगे?”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, एनडीए प्रत्याशी सुनील कुमार और कुचायकोट के अमरेंद्र कुमार पांडे के समर्थन में आयोजित जनसभा में नीतीश कुमार ने लालू-राबड़ी पर कटाक्ष करते हुए कहा, “पति-पत्नी के 15 वर्षों के कार्यकाल के दौरान शाम होते ही लोगों की घर से बाहर निकलने की हिम्मत नहीं होती थी। उनके शासनकाल में कई सामूहिक नरसंहार हुए। हमने अपने शासनकाल में कानून का राज स्थापित किया है।”

उन्होंने कहा, “2018 के भारत सरकार के आँकड़े के अनुसार, पहले जहाँ बिहार में कानून-व्यवस्था प्रदेश में सबसे निचले पायदान पर थी, वहीं अब 23वें स्थान पर आ गई है। बिहार की विकास दर भी पूरे देश में सबसे अधिक 12.7 प्रतिशत हो गई है।”

नीतीश ने कहा, “लालू-राबड़ी के शासनकाल में महिलाओं को सम्मान नहीं मिला। हमने पंचायतों और नगर निकायों में उनके लिए 50 प्रतिशत आरक्षण की व्यवस्था की। अब लड़के-लड़कियों की संख्या विद्यालयों में लगभग बराबर हो गई है। अस्पतालों में भी काफी सुधार हुआ है।”

मुख्यमंत्री ने आगे कहा, “हर जिले में इंजीनियरिंग, पॉलिटेक्निक, महिला आईटीआई और एएनएम संस्थान खोले जा रहे हैं। उच्च शिक्षा के लिए गरीबों के बच्चों को चार लाख रुपये तक का क्रेडिट कार्ड दिया जा रहा है। पहले पुलिस बल में महिलाओं की नियुक्ति नहीं होती थी पर अब उनका प्रतिशत बढ़ गया है। बिजली के मामले में भी काफी सुधार हुआ है।”