समाचार
“1 दिसंबर से सभी राजमार्गों पर फास्टैग सुविधा, ईंधन व समय की होगी बचत”- गडकरी

केंद्रीय परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने सोमवार को जानकारी दी कि1 दिसंबर से राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) राजमार्गों के टोल प्लाजा के सभी लेन को फास्टैग से लैस कर रहा है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, एक राष्ट्र, एक फास्टैग पर हुए एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए नितिन गडकरी ने कहा, “देश में राष्ट्रीय राजमार्गों पर कुल 527 टोल प्लाजा हैं। इनमें से 380 के सभी लेन फास्टैग सुविधा से जोड़ दिए गए हैं। बाकी को भी इससे जोड़ने की प्रक्रिया चल रही है।”

उन्होंने बताया, “1 दिसंबर से देश के सभी टोल प्लाजा में यह व्यवस्था हो जाएगी। टोल प्लाजा पर जाम नहीं लगेगा और यह भी जानकारी मिल जाएगी कि वाहन में कौन बैठा है। इससे गृह मंत्रालय को अपराध नियंत्रण करने में सहूलियत मिलेगी।”

उन्होंने आगे कहा, “इस सुविधा के बाद टोल प्लाजा पर टैक्स चुकाने के लिए वाहनों को रुकना नहीं पडे़गा। इससे वह अपने गंतव्य तक समय पर पहुँच पाएँगे। साथ ही टैक्स देने के लिए ना रुकने की वजह से ईधन भी खर्च नहीं होगा। हर दिन टोल टैक्स देने के लिए वाहनों के रुकने की वजह से करोड़ों रुपये का ईधन जल जाता है।”

ऐसे काम करता है फास्टैग

फास्टैग एक इलेक्ट्रॉनिक टोल कनेक्शन सिस्टम है। यह तकनीक सबसे पहले भारत के मुंबई और अहमदाबाद में 2014 में आई थी। वाहन टोल प्लाजा पर बिना रुके अपना रोड टैक्स दे सकेगा, जिसके लिए वाहन पर फास्टैग लगाना होगा। वाहन के विंडस्क्रीन पर इसे लगाया जाता है। यह टैग प्रीपेड खाते की तरह होता है, जो आपके खाते से राशि काट लेता है। राशि खत्म होने पर इसमें फिर से राशि डाली जा सकेगी। कहा जा रहा है कि फास्टैग की वैधता पाँच वर्ष होगी।