समाचार
निर्भया- अक्षय सिंह की पुनर्विचार याचिका पर सुनवाई 17 को, तिहाड़ ने मांगे दो जल्लाद

सर्वोच्च न्यायालय निर्भया मामले में दायर की गई दोषी अक्षय कुमार सिंह की पुनर्विचार याचिका पर 17 दिसंबर को सुनवाई करेगा। इसके लिए तीन न्यायाधीशों की पीठ बैठेगी, जो सुनवाई करेगी। वहीं, तिहाड़ जेल ने दोषियों की फांसी की सजा के लिए उत्तर प्रदेश से दो जल्लाद मुहैया कराने को कहा है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, अक्षय कुमार ने दिल्ली के प्रदूषण का हवाला देते हुए मौत की सजा पर सवाल उठाए थे। उसने दिल्ली के गैस चैंबर होने, सतयुग-कलयुग, महात्मा गांधी, अहिंसा के सिद्धांत और दुनियाभर के शोधों का जिक्र किया था। उसने कहा था, “जब दिल्ली के प्रदूषण की वजह से लोगों की उम्र घट रही है तो हमें फाँसी क्यों दी जा रही है?”

दोषी पवन, मुकेश और विनय ने पिछले वर्ष मौत की सजा के निर्णय पर पुनर्विचार याचिका लगाई थी। इसे सर्वोच्च न्यायालय ने खारिज कर दिया था। उधर, विनय ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के पास भेजी गई याचिका वापस लेने की मांग की है। उसने कहा, “दया याचिका पर मेरे हस्ताक्षर नहीं हैं।”

उधर, दिल्ली की तिहाड़ जेल ने निर्भया के दोषियों की फांसी की सजा के लिए उत्तर प्रदेश से दो जल्लाद मुहैया कराने को कहा है। उत्तर प्रदेश के एडीजी (जेल) ने इसकी पुष्टि की। उन्होंने कहा, “पत्र में दोषियों को फांसी दिए जाने का कोई जिक्र नहीं किया गया है लेकिन कहा गया है कि इसकी ज़रूरत पड़ सकती है।”