समाचार
एनआईए का लश्कर के बेंगलुरु व हैदराबाद के आतंकियों के खिलाफ आरोप-पत्र दायर

राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने कहा कि उसने कट्टरपंथी जिहादी संगठनों के आतंकियों के खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया है। उन्होंने हिंदू समुदाय की बड़ी हस्तियों की हत्या के लिए हथियार और गोला-बारूद की खरीद की थी।

प्रेस विज्ञप्ति जारी करके एनआईए ने कहा कि आरोपी लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी) और हरकत-उल-जेहाद-ए-इस्लामी (हूजी) के कथित आतंकवादी समूहों से हैं।

एनआईए ने बेंगलुरु में दो व्यक्तियों के खिलाफ पूरक आरोप-पत्र दायर किया है, जिनके नाम क्रमशः बेंगलुरु के डॉक्टर सबील अहमद (मोटू डॉक्टर) और हैदराबाद के असदुल्लाह खान (अबू सूफियान) हैं। दोनों का संबंध लश्कर के संगठन से है।

इससे पूर्व, एनआई ने 17 लोगों के खिलाफ आरोप-पत्र दायर किया था। 2016 में इसी मामले में 13 अभियुक्तों को दोषी ठहराया गया था। इन कथित आतंकियों ने विध्वंसक गतिविधियों और भारत सरकार के खिलाफ युद्ध छेड़ने की साजिश रची थी।

विज्ञप्ति में कहा गया कि उन्होंने कर्नाटक के बेंगलुरु व हुबली, महाराष्ट्र के नांदेड़, हैदराबाद के तेलंगाना में हिंदू समुदाय के खास लोगों को निशाना बनाने का लक्ष्य बनाया था, जिसके लिए उन्होंने हथियार और गोला-बारूद खरीदे थे। उन्होंने सांप्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने और समाज में आतंक फैलाने की साजिश रची थी। इसी मामले में फरार छह आरोपियों के खिलाफ जाँच जारी है।