समाचार
पीडीपी नेता पारा ने हुर्रियत कॉन्फ्रेंस को घाटी में अशांति के लिए दिए थे 5 करोड़- एनआईए

हिजबुल मुजाहिद्दीन के आतंकी बुरहान वानी के 2016 में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में मारे जाने के बाद पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) नेता वहीद उर रहमान पारा ने हुर्रियत कॉन्फ्रेंस के नेता सैयद अली शाह गिलानी के दामाद अल्ताफ अहमद शाह उर्फ अल्ताफ फंटूश को कश्मीर घाटी में अशांति फैलाने के लिए 5 करोड़ रुपये दिए थे। यह दावा राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (एनआईए) ने अपने आरोप-पत्र में किया है।

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, एनआई का आरोप है कि वानी की मौत के बाद पारा अल्ताफ के संपर्क में था। पारा ने उससे कश्मीर घाटी को अशांत रखने को कहा था। इसके लिए वहाँ लगातार पथराव और हिंसात्मक घटनाएँ बड़े स्तर पर करवाने की साजिश रची गई थी।

हालाँकि, पारा इन आरोपों से मना कर रहा है और दावा कर रहा है कि उसे राजनीतिक कारणों से गिरफ्तार किया गया है। पीडीपी का कहना है कि केंद्र सरकार एक रणनीति के तहत पारा को भाजपा में शामिल करना चाहती है इसलिए उस पर दबाव बना रही है।

बता दें कि इससे पूर्व, न्यायालय ने पारा को पूरक आरोप-पत्र में नाम न होने पर ज़मानत दे दी थी। इसके बाद कश्मीर में काउंटर इंटेलिजेंस विंग द्वारा उसे फिर से गिरफ्तार किया गया था, तब से वह जेल में है। श्रीनगर में एनआईए अदालत ने उनकी जमानत खारिज कर दी थी। उस पर जम्मू और कश्मीर में अलगाववादियों और आतंकवादी समूहों को धन मुहैया कराने के आरोप हैं।