समाचार
एनआईए ने केरल से एक आतंकी पकड़ा, भारत में करना चाहता था श्रीलंका जैसा हमला

राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) ने केरल में आतंकी साजिश रचने के षड्यंत्र में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया। तमिल बोलने वाले आतंकी ने बताया कि वह श्रीलंका हमलों के मास्टरमाइंड ज़हरान हाशिम का अनुयायी है।

पल्लकड़ में रहने वाले संदिग्ध की पहचान रियास अबू बकर या अबू दुजाना के रूप में हुई। उसे बीते दिनों दक्षिण भारत राज्य में कासरगोड़ आईएसआईएस मॉड्यूल से संपर्क होने की वजह से उठाया गया।

पूछताछ में रियाज़ ने बताया कि वह एक वर्ष से हाशिम के वीडियो और ऑडियो सुनता आ रहा है। उसने माना कि वह कट्टरपंथी इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक के भाषणों से प्रेरित है। वह केरल में एक आत्मघाती हमला करना चाहता था। वह लंबे समय से लापता चल रहे आरोपी अब्दुल राशिद और अब्दुल्ला के संपर्क में था। वह उनकी ऑडियो क्लिप्स का अनुसरण करता था। इनमें से एक को उसने सोशल मीडिया में शेयर किया था। इस तरह भारत में आतंकी हमलों के लिए दूसरों को भी उकसाया जा रहा था।

रियाज़ ने बताया कि वह अब्दुल खायुम से ऑनलाइन चैटिंग करता था, जो इस वक्त सीरिया में है। रियाज 40 वर्ष के करीब का बताया जा रहा और उसके संबंध आतंकवादी संगठन नेशनल तौहीद जमात से भी जुड़े होने के संकेत हैं। संदिग्ध को कोच्चि की अदालत में पेश किया गया, जहां उसने ज़हरान से प्रेरित होने की बात स्वीकार ली।

एजेंसी को पता चला था कि एक समूह के चार लोग अब्दुल राशिद, अशफाक मजीद, अब्दुल खयूम व अन्य अफगानिस्तान और सीरिया चले गए। कुछ लापता आरोपियों के संपर्क में हैं। इसके बाद तीन जगहों  पर छापा मारकर साक्ष्यों के साथ तीन को पकड़ा गया। एनआईए मई 2016 में राज्य से 21 लोगों के लापता होने की जांच कर रही है। माना जाता है कि आतंकवादी समूह में शामिल होने के लिए उन्होंने सीरिया और इराक की यात्रा की है।