समाचार
2023 तक दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे के दिल्ली-बागपत खंड का निर्माण होगा पूरा

भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) की योजना दिसंबर 2023 के अंत तक प्रस्तावित दिल्ली-देहरादून राष्ट्रीय राजमार्ग एक्सप्रेस-वे के 32 किमी लंबे दिल्ली-बागपत खंड का निर्माण पूरा करने की है।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, दिल्ली से बागपत खंड को 12 लेन के साथ बनाने का प्रस्ताव है, जिसमें छह लेन लंबी दूरी के यात्रियों को समर्पित हैं। 32 किमी खंड को दो चरणों में विभाजित किया गया है। पहला दिल्ली के अक्षरधाम से उत्तर प्रदेश के लोनी तक 15 किलोमीटर। दूसरा लोनी से बागपत तक 17 किलोमीटर तक।

एनएचएआई के परियोजना निदेशक मुदित गर्ग ने कहा, “उत्तर प्रदेश में 17 किलोमीटर के खंड (1,654 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले) के लिए कार्य आदेश मई में दिया गया था। दूसरा कार्य आदेश अक्षरधाम से खेकरा खंड (1,264 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाला) के लिए एक सप्ताह के भीतर जारी किया जाएगा। दो खंड दिसंबर 2023 तक तैयार होने हैं। राजमार्ग पूरा होने के बाद दिल्ली और देहरादून के बीच एक सीधी कड़ी होगी।”

उन्होंने आगे कहा, “राजमार्ग से प्रतिदिन करीब 20,000 से 30,000 यात्री कार गुज़र सकेंगी। इससे दिल्ली-मेरठ सड़क पर बोझ कम पड़ेगा, जो बड़े पैमाने पर गाज़ियाबाद से गुज़रने वाली लंबी दूरी के यातायात को पूरा करता है।”

निर्माणाधीन दिल्ली-देहरादून एक्सप्रेस-वे दोनों शहरों के मध्य की दूरी को 235 किलोमीटर से घाटकर 210 किलोमीटर कर देगा। यात्रा के समय को भी 6.5 घंटे से घटाकर सिर्फ 2.5 घंटे तक कर देगा। पूरे कॉरिडोर को न्यूनतम 100 किमी प्रति घंटे की गति से गाड़ी चलाने के लिए डिज़ाइन किया गया है।