समाचार
पाकिस्तान से फंड के अभाव में भारत-विरोधी गैर-सरकारी संस्थाओं का संकट गहराया

गैर-सरकारी संस्थानों के वेश में भारत-विरोधी उद्देश्य से काम करने वाले संगठन परेशानी का सामना कर रहे हैं क्योंकि पाकिस्तान से आने वाले फंड में गिरावट देखी गई है, ज़ी  ने रिपोर्ट किया। इन संगठनों में असंतोष देखा गया है और वे पाकिस्तान पर क्रोध व्यक्त कर रहे हैं।

रिपोर्ट में वरिष्ट अधिकारी कहते हुए पाए गए हैं कि यूएस, यूके और जम्मू-कश्मीर में काम कर रहे ये भारत-विरोधी प्रचार वाले संगठन पिछले कुछ महीनों से मुश्किलों में रहे हैं। इससे पहले इन समूहों को लंदन स्थित पाकिस्तानी उच्च आयोग से पैसे मिलते थे।

इन समूहों की कार्यप्रणाली मानवाधिकार संरक्षण के नाम पर भारत-विरोधी दुष्प्रचार करना है। ये समूह मानवाधिकार हनन और अल्पसंख्यकों के विरुद्ध हिंसा के निराधार आरोप सेना पर लगाकर भारत विरोधी भावना का निर्माण करते हैं।

विदेशों से आने वाले वित्त में कमी का सबसे अधिक दुष्प्रभाव जम्मू-कश्मीर स्थित अलगाववादियों पर पड़ा है और गृह मंत्रालय ने उन संगठनों की विवरण सूची माँगी जिन्हें पाकिस्तान से पैसे मिलते हैं।