समाचार
ओली सरकार के भेदभावपूर्ण नागरिकता विधेयक के विरोध में विपक्ष का देशव्यापी प्रदर्शन

नेपाल की विपक्षी जनता समाज पार्टी (जेएसपी) के नेतृत्व में मंगलवार को एक नए और विवादास्पद नागरिकता विधेयक के विरोध में सड़कों पर उतरकर ओली सरकार के विरुद्ध देशव्यापी विरोध प्रदर्शन किया।

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, नेपाल में विपक्ष ने ज़ोर देकर कहा, “नए विधेयक का उद्देश्य एलजीबीटीक्यू प्लस समुदाय जैसे अल्पसंख्यक समूहों, नेपाली पुरुषों और पूर्व गोरखाओं से विवाहित विदेशी महिलाओं को लक्षित करना है, जो नेपाली नागरिकता प्राप्त करना चाहती हैं।”

विधेयक के अनुसार, कोई भी विदेशी महिला, जो नेपाली पुरुष से शादी करती है, उसे नागरिकता के लिए पात्र होने से पहले सात वर्षों की प्रतीक्षा करनी होगी। वर्तमान में, ऐसी कोई भी महिला विवाह के बाद नागरिकता के तुरंत योग्य हो जाती है।

एलजीबीटीक्यू प्लस समुदाय के सदस्यों के संबंध में विधेयक का प्रस्ताव है कि नागरिकता हासिल करने के लिए उन्हें चिकित्सा परीक्षणों के अधीन होना चाहिए। फिर भले ही नागरिकता के लिए आवेदन करने वाले पुरुषों या महिलाओं के लिए इस तरह का कोई खंड लागू न हो।

जेएसबी नेता हिशिला यामी भट्टाराई ने विधेयक में एलजीबीटीक्यू प्लस के सदस्यों के लिए बनाए जा रहे प्रावधानों के पीछे केपी शर्मा ओली सरकार के इरादों पर सवाल उठाया है। उन्होंने पूछा, वे उन्हें (एलजीबीटीक्यू प्लस समुदाय) बनाकर दुनिया को दिखाने की क्या कोशिश कर रहे हैं?