समाचार
मनी लॉन्ड्रिंग- एनडीटीवी संस्थापक प्रणॉय रॉय और राधिका को विदेश जाने से रोका गया

एनडीटीवी संस्थापक प्रणॉय रॉय और उनकी पत्नी राधिका रॉय मनी लॉन्ड्रिंग  मामले की जाँच से घिरे हुए हैं। ऐसे में दोनों को केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) के अनुरोध पर मुंबई हवाई अड्डे से विदेश जाने पर शुक्रवार को रोक दिया गया।

इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, सीबीआई ने एक प्राथमिकी में इन दोनों और एक निजी कंपनी पर बैंकों को धोखा देने का आरोप लगाया है। इसके बाद प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने धन शोधन रोकथाम अधिनियम के तहत इन पर मामला दर्ज कर दिया था।

प्राथमिकी में आरोप लगाया गया है कि आईसीआईसीआई बैंक को नई दिल्ली टेलीविजन के प्रमोटर्स डॉ. प्रणॉय रॉय, राधिका रॉय और आरआरपीआर होल्डिंग के रूप में गैरकानूनी तरीके से हुए लाभ को हस्तांतरित करने की वजह से 48 करोड़ रुपये से अधिक का नुकसान हुआ था।

एनडीटीवी के संस्थापकों को हाल ही में दो वर्ष के लिए सुरक्षा बाजारों में किसी भी तरह के सौदे करने से प्रतिबंधित कर दिया गया था। प्रणॉय और राधिका को विदेश यात्रा पर जाने से रोके जाने के बाद एनडीटीवी ने मीडिया की स्वतंत्रता को लेकर कई तरह के आरोप लगाए।

न्यूज चैनल ने इस वाकये के बाद बयान जारी किया, “बुनियादी अधिकारों का हनन करके एनडीटीवी के संस्थापक प्रणॉय और राधिका को देश छोड़ने से रोका गया। दोनों पत्रकारों के पास एक हफ्ते बाद 16 तारीख के भारत लौटने के टिकट थे। उन पर दो साल पहले फर्जी और अप्रमाणित भ्रष्टाचार का मामला दर्ज किया गया और उसके आधार पर विदेश यात्रा करने से रोक दिया गया।”

मीडिया ग्रुप ने इस मामले में अपने ऊपर लगे आरोपों को अप्रमाणित बताते हुए दावा किया कि संस्थापक अधिकारियों के साथ पूरा सहयोग कर रहे हैं।