समाचार
एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने पूछताछ में स्वीकारी इकबाल मिर्ची के साथ सौदे की बात
आईएएनएस - 22nd October 2019

ईडी भगौड़े अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम कासकर के करीबी रहे मृत इकबाल मिर्ची के साथ पूर्व केंद्रीय मंत्री और एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल के कथित संपत्ति सौदों की जाँच के मामले में विवादित 15 मंजिला सीजे हाउस की संपत्ति को कुर्क करने की तैयारी में है।

यह बात तब पता चली, जब शुक्रवार (18 अक्टूबर) को मिर्ची के परिवार के सदस्यों के साथ मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में पूर्व मंत्री प्रफुल्ल पटेल से 12 घंटे तक पूछताछ की गई। जाँच कर रहे वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, “पटेल ने स्वीकार किया कि उन्होंने मिर्ची के परिवार के सदस्यों के साथ सौदे किए थे।”

अधिकारी ने बताया, “उन्हें जानकारी नहीं थी कि इकबाल मेमन उर्फ इकबाल मिर्ची ही वही आदमी था। उन्होंने अपने बयान में कहा, “मिलेनियम डेवलपर्स के बीच उनके और पत्नी वर्षा के सौदे को एक रिश्तेदार ने करवाया था, जिसकी कुछ वर्ष पहले मौत हो चुकी है।”

अधिकारी ने कहा, “आने वाले दिनों में ईडी धनशोधन निरोधक अधिनियम (पीएमएलए) 2002 के तहत सीजे हाउस को कुर्क करेगा। एजेंसी का मानना है कि मिर्ची के परिवार ने इस संपत्ति के लिए जुर्म की रकम का इस्तेमाल किया है। गत सप्ताह प्रेस कॉन्फ्रेंस में पटेल ने दावा किया था कि मिर्ची की पत्नी हाजरा मेमन को एमके मोहम्मद के जरिए सीजे हाउस में दो मंजिलें मिली थीं। मोहम्मद का संपत्ति में एक रेस्त्रां था, जो पहले से कानूनी विवादों में रहा है।

ईडी मिर्ची के कथित संबंधों की जाँच कर रहा है, जिसकी 2013 में लंदन में मौत हुई थी। ईडी ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जो मुंबई के हैं। उनकी पहचान हारून यूसुफ और रणजीत सिंह बिंद्रा के रूप में हुई है। बिंद्रा ने जमीन सौदे के लिए एक दलाल के रूप में काम किया, जबकि यूसुफ ने एक ट्रस्ट को पैसे हस्तांतरित किए और सौदे को सुगम बनाया था।