समाचार
“ड्रग तस्करी में शामिल थे रिया और शोविक चक्रवर्ती”- एनसीबी ने न्यायालय को बताया

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने सोमवार (29 सितंबर) को बॉम्बे उच्च न्यायालय में रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शोविक की ज़मानत का विरोध किया। उन्होंने अपने एफिडेविट में कहा, “ये ड्रग बेचने वाले समूह के सक्रिय सदस्य हैं। रिया को यह पता था कि सुशांत सिंह राजपूत ड्रग ले रहे हैं। फिर भी उन्होंने उनका साथ दिया और बातें छिपाईं।”

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने दाखिल जवाब में कहा, “इसके पुख्ता सबूत हैं कि रिया ने ड्रग तस्करी में फाइनेंस किया। वॉट्सैप चैट, मोबाइल, लैपटॉप और हार्ड डिस्क से निकाले गए रिकॉर्ड बताते हैं कि रिया ना केवल लगातार इसका सौदा करती रहीं बल्कि अवैध कारोबार को फाइनेंस भी करती थीं।”

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने कहा, “रिया चक्रवर्ती ने अपने घर में ड्रग्स को रखा और वह सुशांत को समय-समय पर इसकी आपूर्ति करती रहती थीं। वह हाई सोसायटी के लोगों के लिए ड्रग्स पहुँचाने के अवैध धंधे से जुड़ी हुई थीं। इसके पर्याप्त सबूत हैं कि वह ड्रग तस्करी में शामिल थीं। रिया ड्रग्स की आपूर्ति करतीं और क्रेडिट कार्ड, कैश और पेमेंट गेटवे के जरिए पैसा लेती थीं।”

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की हत्या को लेकर हो रही जाँच के बाद रिया को ड्रग मामले में गिरफ्तार किया गया था। वह मुंबई की भायखला जेल में बंद हैं। मुंबई की विशेष अदालत ने उन्हें 6 अक्टूबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा है।