समाचार
नक्सलियों ने अनुच्छेद 370 हटाने के विरोध में की आरएसएस कार्यकर्ता की हत्या

छत्तीसगढ़ में कांकेर जिले के दुर्गुकोंदल के कोंडेगाँव में नक्सलियों ने पूर्व सरपंच और आरएसएस कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी। उन्होंने एक पर्चा भी फेंका, जिसमें कश्मीर मुद्दे को लेकर भाजपा व आरएसएस को धमकी दी है।

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार, मंगलवार रात 10.30 बजे आरएसएस से जुड़े दादू राम कोरटिया को आवाज देकर नक्सलियों ने घर से बाहर बुलाया। उनके बाहर आते ही कुल्हाड़ी से उन पर वार किया और गोली मार दी। घटना के वक्त मृतक की पत्नी घर पर मौजूद थी।

नक्सली घटना को अंजाम देने के बाद पर्चा फेंककर चले गए। उसमें लिखा था, “भाजपा और आरएसएस की गतिविधियाँ आदिवासी और दलित विरोधी हैं। उन्होंने तानाशाही दिखाते हुए कश्मीर से अनुच्छेद 370 को रद्द किया। दादू सिंह ऐसे संगठन से जुड़कर अपनी गतिविधियाँ चला रहा था।”

सोमवार को भी नक्सलियों ने कांकेर में ही जन आदालत लगाकर एक युवक की हत्या कर दी थी। मुखबिरी के आरोप में उसे पीटकर मार डाला गया और जंगल में फेंक दिया गया। नक्सलियों ने सरकार के फैसले के विरोध में 30 अगस्त को बंद की घोषणा की है।