समाचार
सिद्धू ने पटियाला व अमृतसर स्थित घर पर काला दिवस के समर्थन में लगाए काले झंडे

कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने किसान आंदोलन के 26 मई को छह महीने पूरे होने पर काला दिवस मनाए जाने के निर्णय को अपना समर्थन देते हुए पटियाला और अमृतसर स्थित घर पर मंगलवार (25 मई) को काले झंडे लगाए।

एबीपी न्यूज़ की रिपोर्ट के अनुसार, नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा, “केंद्र सरकार द्वारा जबरदस्ती थोपे जा रहे तीन कृषि कानूनों को जब तक खत्म नहीं किया जाता है, तब तक हमारे घरों से ये काले झंडे उतरेंगे नहीं। ये कानून पंजाब में डूबती किसानी को बिल्कुल ही खत्म कर देंगे। इससे छोटे व्यापारी किसानों के पेट में लात मारेंगे।”

इससे पूर्व उन्होंने ट्विटर पर कहा था, “किसानों के प्रदर्शन के समर्थन में मैं अपने दोनों घरों पर कल सुबह 9.30 बजे काला झंडा लहराऊँगा। सबसे अनुरोध है कि वे भी ऐसा तब तक करें, जब तक इन काले कानूनों को वापस नहीं लिया जाता या राज्य सरकार के जरिये निश्चित एमएसपी और खरीद की वैकल्पिक प्रक्रिया मुहैया नहीं कराई जाती।”

भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) की पंजाब इकाई के नेताओं ने बताया कि काला दिवस के लिए पंजाब के गाँव-गाँव में तैयारियाँ चल रही हैं। लोग काले झंडे और काले कपड़े सिलवा रहे हैं। किसान बड़ी संख्या में दिल्ली सीमा के लिए कूच कर रहे हैं।

बता दें कि तीन कृषि कानूनों के विरोध को लेकर किसान दिल्ली की सिंघू, टिकरी और गाजीपुर सीमा पर नवंबर से ही प्रदर्शन कर रहे हैं। किसानों और केंद्र सरकार के बीच इस मुद्दे को लेकर 22 जनवरी से कोई वार्ता नहीं हुई है।