समाचार
सिद्धू मुख्यमंत्री पद की लालसा में करेंगे टकसाली दल का नेतृत्व? रणजीत सिंह ने की मांग

पंजाब सरकार के पूर्व मंत्री और कांग्रेस के नेता नवजोत सिंह सिद्धू की पिछले कुछ समय से अपनी पार्टी में अनबन रही है। इसी बीच समाचार आ रहे हैं कि सिद्धू अपनी नई सियासी पारी की शुरुआत कर सकते हैं।

ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि सिद्धू शिरोमणि अकाली दल (शिअद) से अलग हुए नेताओं द्वारा बनाए गए शिरोमणि अकाली दल टकसाली के साथ जा सकते हैं।

जागरण की खबर के अनुसार कभी अकालियों के धुर विरोधी रहे सिद्धू को शिअद टकसाली ने पार्टी का नेतृत्व करने का न्यौता दिया है। शिअद टकसाली ने कहा है, “सिद्धू हमारा नेतृत्व करें, हम उन्हें मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बनाएँगे।”

शिअद के वरिष्ठ नेता और पंजाब के पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने तंज करते हुए कहा है कि टकसालियों को अपने दल का नाम, ‘ठोको ताली दल’ रख लेना चाहिए। लड़की बातों से साफ है कि वें अपना नेतृत्व करने में सक्षम नहीं है।

शिअद टकसाली के नेता रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा ने और उनके बाद अब पूर्व मंत्री व महासचिव सेवा सिंह सेखवां ने भी कहा है कि सिख संस्थाओं को बादलों से आज़ाद कराना हमारा मकसद है। सिंधु जैसे नेताओं के दल में आने से आने से और उनकी अगुवाई में काम करने में हमें खुशी होगी।

सिद्धू को शिअद टकसाली में लाने और उनको पार्टी का नेतृत्‍व सौंपेन की मांग रणजीत सिंह ब्रह्मपुरा ने दो दिन पहले दिल्ली में सफर-ए-अकाली कार्यक्रम के दौरान की थी।

इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से टकराव के चलते उन्होंने अपने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।