समाचार
राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण कोरोना काल में हुआ तेज़, अप्रैल-दिसंबर में प्रतिदिन 29 किलोमीटर

एक सकारात्मक विकास के रूप में वित्तीय वर्ष-21 के पहले नौ महीनों में दैनिक औसत राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण गत वर्ष की समान अवधि में 26 किलोमीटर प्रतिदिन की तुलना में 29 किलोमीटर प्रतिदिन हो गया है।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के अनुसार, अप्रैल-दिसंबर से नौ महीनों के दौरान कुल राष्ट्रीय राजमार्ग निर्माण में अभूतपूर्व तेज़ी देखी गई। इसके परिणामस्वरूप वित्तीय वर्ष-20 में 6,940 किलोमीटर से बढ़कर वित्तीय वर्ष-21 में 7,767 किलोमीटर तक निर्माण कार्य पहुँच गया। ऐसी तेज़ी तब देखने को मिली, जब देशव्यापी लॉकडाउन की वजह से पहले दो महीनों के दौरान निर्माण कार्य बंद रहे थे।

सिर्फ दिसंबर में 1,560 किलोमीटर राष्ट्रीय राजमार्ग बनाए गए हैं। नितिन गडकरी के नेतृत्व में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (एमओआरटीएच) ने 31 मार्च तक 11,000 किलोमीटर सड़क निर्माण के लक्ष्य को छूने का संकल्प रखा है। इससे पूर्व, व्हार्टन इंडिया इकोनॉमिक फोरम के एक कार्यक्रम में गडकरी ने कहा, “मुझे उम्मीद है कि मार्च के अंत तक औसत दैनिक निर्माण 35 किलोमीटर तक जा सकता है।”

हालाँकि, यह भी गौर किया जाना चाहिए कि अप्रैल-दिसंबर के दौरान नई राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं की बोली भी उसी अवधि से दोगुनी से अधिक देखी गई है। एमओआरटीएच ने वित्त वर्ष-21 में राष्ट्रीय राजमार्गों की 7,200 किलोमीटर की परियोजनाओं को गत वर्ष की समान अवधि में केवल 3,434 किमी की तुलना में अधिक बोली लगाई है।