समाचार
नमो टीवी का प्रसारण बंद, भाजपा ने कहा ‘चुनावी प्रक्रिया के बाद इसकी ज़रूरत नहीं’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकसभा चुनाव की रैलियों और कार्यक्रमों की जानकारी देने वाले भाजपा के प्रायोजित चैनल नमो टीवी का प्रसारण बंद कर दिया गया है।

टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट के अनुसार, भाजपा नेताओं का कहना है कि चुनावी प्रक्रिया पूरी होने के बाद अब इस चैनल की कोई ज़रूरत नहीं है। इसके बाद 17 मई को चुनावी प्रक्रिया पूरी होते ही इसका प्रसारण बंद कर दिया गया।

यह चैनल 31 मार्च से शुरू हुआ था। इसके शुरू होते ही विवाद उत्पन्न होने लगे थे। विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग से लेकर सर्वोच्च न्यायालय तक में इसको बंद करने को लेकर अपील की थी।

दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने चुनाव प्रचार की अवधि खत्म होने के बाद भी टीवी पर चुनाव संबंधित खबरें चलाने के लिए भाजपा को नोटिस भेजा था। आयोग ने इस पर दिखाए जाने वाले सभी कार्यक्रमों के पहले ही प्रमाणित होने के निर्देश भी दिए थे। साथ ही आयोग की मंजूरी के बिना किसी भी तरह की सामग्री को प्रसारित न करने का आदेश दिया था।

आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज करवाई थी। आप का कहना था कि आचार संहिता लागू होने के बावजूद किसी राजनीतिक दल को अपना चैनल जारी रखने की अनुमति कैसे दी जा सकती है?