समाचार
अयोध्या मामला- न्यायालय में पाँच दिन की सुनवाई को मुस्लिम पक्ष ने बताया ‘प्रताड़ना’

सर्वोच्च न्यायालय ने अयोध्या मामले को लेकर लगातार पाँच दिन सुनवाई करने का निर्णय लिया था। इसके तहत शुक्रवार को चौथे दिन सुनवाई हुई। इस दौरान एक मुस्लिम पक्ष ने मामले की पाँच दिन सुनवाई करने का विरोध किया।

हिंदुस्तान लाइव की रिपोर्ट के अनुसार, मुस्लिम पक्ष की ओर से पेश हुए वकील राजीव धवन ने कहा, “अगर सप्ताह के सभी दिनों में सुनवाई होती है तो न्यायालय की सहायता करना संभव नहीं होगा। यह पहली अपील है और इतनी जल्दबाजी में सुनवाई नहीं हो सकती है। यह मेरे लिए प्रताड़ना है।”

इस पर न्यायालय ने दलीलों पर गौर करने और जल्द से जल्द जवाब देने की बात कही है। सर्वोच्च न्यायालय ने अपनी परंपरा तोड़ते हुए इस मामले की सुनवाई हफ्ते में पाँच दिन करने का निर्णय लिया था।

मामले की सुनवाई मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पाँच सदस्यीय पीठ कर रही है। इसमें न्यायाधीश एस. ए. बोबडे, न्यायाधीश डी. वाई. चंद्रचूड़, न्यायाधीश अशोक भूषण और न्यायाधीश एसए नजीर शामिल हैं।