समाचार
मुस्लिम पक्षकारों ने कहा- “पक्ष में निर्णय आने के बाद भी अयोध्या में मस्जिद नहीं बनाएँगे”
आईएएनएस - 20th October 2019

राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद विवाद मामले में सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय के बाद की स्थिति पर चिंतित मुस्लिम पक्षकारों ने कहा है कि वे देश की शांति और सद्भाव के लिए मस्जिद का निर्माण नहीं करेंगे। कुछ पक्षकारों का यह भी कहना है कि अगर निर्णय मुस्लिमों के पक्ष में आता है तो उन्हें भूमि घेरकर छोड़ देनी चाहिए, लेकिन दोबारा मस्जिद का निर्माण नहीं करना चाहिए।

मुस्लिम पक्षकारों में से एक हाजी महबूब ने कहा, “यदि परिणाम हमारे समर्थन में आता है तो हम वहाँ मस्जिद नहीं बनाएँगे, उस भूमि को घेरकर छोड़ देंगे। हमारे लिए देश की स्थिति और अमन चैन ज्यादा ज़रूरी है।”

उन्होंने आगे कहा, “यह मेरी निजी राय है। देश की वर्तमान स्थिति को ध्यान में रखते हुए मैं अन्य पक्षकारों के समक्ष इसपर चर्चा करने के लिए अपना प्रस्ताव रखूँगा।”

मुस्लिम पक्ष के एक पक्षकार और जमीयत-उलेमा-ए-हिंद के स्थानीय अध्यक्ष मुफ़्ती हसबुल्लाह बादशाह खान ने हाजी महबूब के बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, “यह सही है कि हमें सबसे पहले समाजिक सद्भाव का ध्यान रखना चाहिए। देश की शांति व्यवस्था सबसे जरूरी है।”

हालांकि, मुख्य मुस्लिम पक्षकारों में से एक इकबाल अंसारी ने इसपर प्रतिक्रिया देने से इंकार कर दिया है। उन्होंने कहा, “निर्णय सुनाया जाए। हम देश के सांप्रदायिक ताने-बाने में कोई कमी नहीं आने देंगे।”