समाचार
भोपाल में मुस्लिम युवक ने हिंदू नाम रखकर की युवती से शादी की कोशिश, मुकदमा दर्ज

भोपाल के कोलार क्षेत्र में मुस्लिम युवक ने हिंदू नाम रखकर युवती से शादी की कोशिश की। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धोखाधड़ी के मामले में प्राथमिकी दर्ज की है। आरोपी युवती से शादी करने के लिए रफीक से रवि बना था और अपना आधार कार्ड भी फर्जी बनवाया था।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, औबेदुल्लागंज की 23 वर्षीय युवती चार वर्ष पूर्व बीमार पड़ी थी। उसे चलने में दिक्कत थी। होशंगाबाद का मुस्लिम युवक उसके पैरों की मालिश करने आता था। उसने अपना नाम रवि यादव बताया था।

वर्षभर पूर्व युवती की फोन पर रवि से कथित रूप से बातें होने लगीं। युवक ने शादी का प्रस्ताव रखा। बाद में परिवारवाले युवक का आधार कार्ड देखकर शादी के लिए सहमत हो गए। 27 दिसंबर को एक मंदिर में दोनों की शादी तय हुई। इससे पूर्व ही हिंदू संगठन के लोगों को जानकारी मिली कि युवक मुस्लिम है। उन्होंने पुलिस को सूचना दे दी।

पुलिस युवक को थाने ले गई। पूछताछ में आरोपित ने स्वीकार किया कि उसका नाम मोहम्मद रफीक है। सोमवार को युवती ने कोलार थाने में आरोपी के खिलाफ शिकायत की। जाँच में यह भी सामने आया है कि शादी से पहले आरोपी ने युवती के परिजनों को अपनी सही पहचान बता दी थी।

बता दें कि शिवराज सरकार ने धर्म स्वातंत्र्य विधेयक 2020 के प्रस्ताव को कैबिनेट की बैठक में मंजूरी दे दी है। इसके तहत दोषी को 10 वर्ष की सज़ा और 50,000 रुपये के आर्थिक दंड का प्रावधान किया गया है। साथ ही अपराध गैर जमानती होगा। सोमवार से प्रस्तावित विधानसभा का शीतकालीन सत्र स्थगित होने के कारण तय हुआ कि महत्वपूर्ण विधेयकों को अध्यादेश लाकर लागू किया जाएगा। मंगलवार को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में कैबिनेट बैठक होगी, जिसमें यह प्रस्ताव रखा जाएगा और इसे स्वीकृति दी जा सकती है।