समाचार
“तालिबान से ना डरें क्योंकि जितनी क्रूरता वहाँ है, उससे अधिक यहाँ है”- मुनव्वर राना

प्रसिद्ध शायर मुनव्वर राना ने गुरुवार (19 अगस्त) को तालिबान को लेकर विवादित बयान दिया। उन्होंने कहा, “जितनी क्रूरता अफगानिस्तान में है, उससे अधिक तो हमारे देश में है। यहाँ पहले रामराज था, अब कामराज है। यदि राम से काम है तो ठीक वरना कुछ नहीं।”

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, मुनव्वर राना ने कहा, “भारत को तालिबान से डरने की आवश्यकता नहीं क्योंकि हमारा अफगानिस्तान से हजारों वर्षों का साथ है। वहाँ जब मुल्ला उमर का राज था, तब भी उसने भारत को क्षति नहीं पहुँचाई क्योंकि उसके पिता व दादा भारत से ही कमा कर ले गए थे।”

उन्होंने कहा, “जितनी एके-47 तालिबान के पास नहीं होगी, उतनी तो हमारे यहाँ माफिया के पास है। तालिबान हथियार छीनकर और मांग कर लाते हैं लेकिन हमारे यहाँ माफिया खरीदते हैं।”

देवबंद में एटीएस सेंटर खोले जाने के उप्र सरकार के निर्णय पर प्रसिद्ध शायर ने कहा कि जब तक ये सरकार है, तब तक कुछ भी हो सकता है लेकिन मौसम हमेशा एक जैसा नहीं रहता है। उत्तर प्रदेश में भी थोड़े तालिबानी हैं। यहाँ सिर्फ मुस्लिम ही नहीं बल्कि हिंदू भी तालिबानी होते हैं। महात्मा गांधी सीधे थे पर नाथूराम गोडसे तालिबानी था। उप्र में भी तालिबान जैसा काम हो रहा है।