समाचार
बुलेट ट्रेन- साबरमती टर्मिनल के डिजाइन और निर्माण का टेंडर बीएल कश्यप एंड संस को
आईएएनएस - 2nd November 2019

नेशनल हाई-स्पीड रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एनएचएसआरसीएल) ने मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल के लिए बीएल कश्यप एंड संस लिमिटेड को साबरमती टर्मिनल के डिजाइन और निर्माण के लिए 332 करोड़ रुपये की परियोजना दी है।

बीएल कश्यप 15 अन्य कंपनियों में सबसे कम बोली लगाने वाली कंपनी के रूप में सामने आई। अगस्त में 16 कंपनियों ने इसमें हिस्सा लिया था। 5 अक्टूबर को तकनीकी बोलियाँ लगाई गईं। यह हाई स्पेड रेल मार्ग पर बुलेट ट्रेन स्टेशन बनाने का पहला टेंडर है।

साबरमती टर्मिनल हब अहमदाबाद से मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड बुलेट ट्रेन में सवार लोगों के लिए मूल बिंदु के रूप में कार्य करेगा। यह मुंबई में बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स से बुलेट ट्रेन में सवार होने वालों के लिए समाप्ति बिंदु होगा। स्टेशन 1930 के महात्मा गांधी के प्रसिद्ध दांडी मार्च को प्रदर्शित करेगा।

साबरमती टर्मिनल बिल्डिंग एक प्रमुख मल्टी-मॉडल ट्रांसपोर्ट हब के रूप में विकसित होगी, ताकि यात्रियों को रेल नेटवर्क, अहमदाबाद मेट्रो और अहमदाबाद बीआरटी (बस रैपिड ट्रांजिट) कॉरिडोर के साथ सुगम कनेक्टिविटी मिल सके।

हाई स्पीड रेल महाराष्ट्र में 155.76 किमी (मुम्बई उप-शहरी में 7.04 किमी, ठाणे में 39.66 किमी और पालघर में 109.06 किमी), दादरा और नगर हवेली के केंद्र शासित प्रदेश में 4.3 किमी और गुजरात में 348.04 किमी के क्षेत्र में दौड़ेगी।

एनएचएसआरसीएल 5 अगस्त 2022 तक मुंबई-अहमदाबाद हाई-स्पीड रेल परियोजना के कम से कम एक चरण को चालू करने की योजना बना रहा है। एनएचएसआरसीएल के एमडी अचल खरे ने कहा, “हम अगस्त में (ऊंचे खंड के लिए) टेंडर खोलेंगे और साल के अंत तक आवंटित कर देंगे। 237 किमी के इस खंड के सिविल कार्य की अनुमानित लागत 20,000 करोड़ रुपये है। इसके अंतर्गत सूरत में अस्थायी डिपो है। कोशिश रहेगी कि इसे 15 अगस्त 2022 से पहले खोल लिया जाए।”