समाचार
सपा-बसपा के गठबंधन से नाराज़ मुलायम सिंह यादव, कहा भाजपा तैयारी में आगे

समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव के नेतृत्व पर उन्हीं के पिता मुलायम सिंह यादव ने प्रश्न चिह्न लगाते हुए गुरुवार (21 फरवरी) को कहा कि सपा और मायावती की बसपा (बहुजन समाज पार्टी) के बीच जो गठबंधन हुआ है, वह अनुचित है और उत्तर प्रदेश के हित में नहीं है।

अखिलेश यादव पर बरसते हुए वरिष्ठ सपा नेता मुलायम ने राज्य के नए गठबंधन के फैसले, सीटों को बराबर वितरित करने पर भी सवाल उठाए। और साथ ही टिकट देने में देरी करने पर भी मुलायम ने असंतोष व्यक्त किया। “मैंने अखिलेश से कहा कि लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर दो जिससे वे तैयारी कर सकें। भाजपा तैयारियों के मामले में हमसे आगे निकल गई है।”,आजतक  ने रिपोर्ट किया।

मुलायम सिंह यादव ने पार्टी पर कहा कि “पार्टी को खत्म कौन कर रहा है? अपनी ही पार्टी के लोग। इतनी मज़बूत पार्टी बनी थी। अकेले तीन बार सरकार बनाई, तीनों बार हम मुख्यमंत्री रहे, रक्षा मंत्री भी रहे, मज़बूत पार्टी थी। हम राजनीति नहीं कर रहे हैं, लेकिन हम सही बात रख रहे हैं।”, एएनआई ने रिपोर्ट किया।

इसके अलावा उन्होंने अपनी बेबसी ज़ाहिर करते हुए कहा कि उन्हें संरक्षक बना दिया गया है जिससे वे अब पार्टी के निर्णय नहीं ले सकते हैं।कुछ दिन पहले मुलायम सिंह यादव ने लोकसभा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री के पद पर देखने की इच्छा भी व्यक्त की थी।