समाचार
मुकुल रॉय टीएमसी में लौटे, ममता बोलीं- “…पर विश्वासघात करने वालों की वापसी नहीं”

पश्चिम बंगाल में 2017 में पाला बदलकर भाजपा में सम्मिलित होने वाले मुकुल रॉय अपनी पुरानी पार्टी तृणमूल कांग्रेस में शुक्रवार (11 जून) शाम वापस आ गए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, सांसद अभिषेक बनर्जी की उपस्थिति में वापसी की। वहीं, भाजपा ने उन्हें पार्टी का भेदी बताते हुए कहा कि वे प्रमुख सूचनाएँ टीएमसी तक पहुँचाते थे इसलिए विधानसभा चुनाव में पार्टी को हार का सामना करना पड़ा था।

आजतक की रिपोर्ट के अनुसार, ममता बनर्जी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, “भाजपा में बहुत अधिक शोषण है। वहाँ लोगों का रहना मुश्किल है। मुकुल रॉय घर का लड़का है इसलिए उसकी वापसी हुई है। मेरा उससे कोई मतभेद नहीं है।”

शुभेंदु अधिकारी का नाम ना लेते हुए उन्होंने निशाना साधा, “जिन्होंने हमारे साथ विश्वासघात किया है, उन्हें वापस नहीं लिया जाएगा।” बता दें कि हाल ही में शुभेंदु अधिकारी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह से पश्चिम बंगाल की स्थितियों को लेकर भेंट की थी।

मुकुर रॉय ने कहा, “वर्तमान में बंगाल में जो स्थिति है, उसमें भाजपा में कोई नहीं रहेगा। मुझे घर वापस आकर अच्छा लग रहा है।” उधर, बंगाल में भाजपा के उपाध्यक्ष अर्जुन सिंह ने कहा, “अभिषेक बनर्जी ने मुकुल रॉय को धक्का देकर निकाला था तो वे भाजपा में आ गए थे। अब वे फिर से चाऊमीन खाने वापस चले गए हैं।”

बता दें कि मुकुल रॉय के पाला बदलने के संकेत बुधवार (9 जून) को टीएमसी के वरिष्ठ नेता व सांसद सौगत रॉय ने दिए थे। सौगत रॉय ने मुकुल की प्रशंसा करते हुए कहा था कि भले वे पार्टी छोड़कर चले गए लेकिन उन्होंने कभी ममता बनर्जी के विरुद्ध खुलकर कुछ नहीं कहा।