समाचार
एमएस धोनी की जम्मू-कश्मीर में सेना की गश्त सेवा, सैनिकों के साथ स्वतंत्रता दिवस

भारतीय टीम के विकेटकीपर-बल्लेबाज एमएस धोनी बुधवार से लेफ्टिनेंट कर्नल के रूप में जम्मू-कश्मीर में अपनी गश्त सेवा शुरू करने जा रहे हैं। आतंकवादी इलाके में धोनी 19 किलो सामान लेकर गश्त करेंगे।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, सेना ने जानकारी दी कि धोनी पैरा कमांडो की बटालियन में 15 दिन ड्यूटी करेंगे। वहाँ 15 अगस्त का जश्न मनाने के बाद वह ट्रेनिंग के लिए बेंगलुरु चले जाएँगे।

श्रीनगर के बादामी बाग कैंट एरिया में भारतीय टीम के पूर्व कप्तान करीब 10 सैनिकों के साथ गश्त करेंगे। इस दौरान उनके पास एके-47 राइफल और 6 ग्रेनेड और बुलेटप्रूफ जैकेट होगी।

यही नहीं, एमएस धोनी को गार्ड यूनिट में रखवाली का काम मिलेगा। इसे उन्हें 4-4 घंटे की दो शिफ्ट में करना होगा। दिन की शिफ्ट के दौरान उन्हें सुबह चार बजे उठना होगा। धोनी जिस बटालियन में तैनात होंगे, वहाँ देशभर के सैनिकों की मिली-जुली यूनिट होगी।

ड्यूटी के दौरान धोनी के पास 3 मैगजीन (5 किलो), वर्दी (3 किलो), जूते (2 किलो), करीब 3 से 6 ग्रेनेड (4 किलो), हेलमेट (1 किलो), बुलेटप्रूफ जैकेट (4 किलो) होगी। इन सबका कुल वजन 19 किलो है। मालूम हो कि 2011 में धोनी को टेरिटोरियल आर्मी में लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद रैंक मिली थी।