समाचार
भोपाल स्थित संघ कार्यालय से कमलनाथ सरकार ने हटाई सुरक्षा, विवाद के बाद लौटाई

भोपाल में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के दफ्तर से अचानक विशेष सशस्त्र बल (एसएसएफ) हटा ली गई थी, जिसके बाद मध्य प्रदेश की राजनीति में विवाद खड़ा हो गया था। द न्यू इंडियन एक्सप्रेस  की रिपोर्ट के अनुसार, विवाद बढ़ता देख 24 घंटे के भीतर ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने फिर से सुरक्षा बहाल करने के आदेश दे दिए हैं।

खास बात यह रही कि दिग्गज कांग्रेसी नेता और पूर्व मुख्यमंत्री रह चुके दिग्विजय सिंह ने भी इस कदम की आलोचना की थी। उन्होंने कहा था, “आरएसएस दफ्तर से सुरक्षा हटाना उचित नहीं है। मैं मुख्यमंत्री कमलनाथ से अनुरोध करता हूँ कि वे भोपाल में आरएसएस कार्यालय में सुरक्षा की बहाली के आदेश दें।”

उधर, भाजपा के राज्य मीडिया संयोजक लोकेंद्र पराशर ने दिग्विजय सिंह के पोस्ट का जवाब दिया, ” सुरक्षा हटाए जाने के बाद आप क्यों चिंतित हैं। सभी राष्ट्रवादी ताकतें जानती हैं कि आप उनके बारे में क्या सोचते हैं। आप वो इनसान हैं, जिसने हिंदू को आतंक से जोड़ा है। चुनाव के डर से पाखंडी मत बनो।”

रिपोर्ट के अनुसार, आरएसएस मुख्यालय में सुरक्षा को फिर से बहाल करते हुए कमलनाथ ने कहा, “चुनाव की वजह से संघ के दफ्तर समेत छह जगहों से सुरक्षा हटाए जाने की जानकारी मिली थी लेकिन अब फिर से वहां सुरक्षा व्यवस्था बहाल कर दी गई है।”