समाचार
कमलनाथ के इमरती देवी को ‘आइटम’ कहने पर शिवराज, ज्योतिरादित्य मौन उपवास पर

मध्य प्रदेश सरकार की कैबिनेट मंत्री इमरती देवी पर कांग्रेस नेता कमलनाथ के आपत्तिजनक बयान को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और कांग्रेस से भाजपा में आए दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मौन उपवास धारण कर लिया है। इसमें राज्य के अन्य मंत्री और पार्टी के नेता भी शामिल हो गए हैं।

न्यूज़-18 की रिपोर्ट के अनुसार, ज्योतिरादित्य सिंधिया इंदौर में मौन धरने पर बैठ गए हैं। भाजपा ने चुनाव आयोग में शिकायत कर मांग की है कि कमलनाथ के प्रचार कार्यक्रम पर प्रतिबंध लगाया जाए। यही नहीं, कांग्रेस नेताओं की तरफ से आपत्तिजनक बयान को लेकर भी प्रतिक्रिया आ रही है।

शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा, “कमलनाथ जी! इमरती देवी उस गरीब किसान की बेटी का नाम है, जिसने गाँव में मजदूरी करने से शुरुआत की और आज जनसेवक के रूप में राष्ट्रनिर्माण में सहयोग दे रही हैं। कांग्रेस ने मुझे भूखा-नंगा कहा और एक महिला के लिए आइटम जैसे शब्द का उपयोग कर अपनी सामंतवादी सोच फिर उजागर कर दी।”

भाजपा नेता प्रदेशभर में मौन व्रत पर हैं। भोपाल में शिवराज सिंह चौहान तो ग्वालियर में प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा मौन व्रत पर हैं। प्रदेशभर में भाजपा पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौन व्रत पर चले गए हैं।

बता दें कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इमरती देवी को आइटम कह दिया था। इसके बाद से चुनाव में भाजपा कमलनाथ और कांग्रेस पर हमलावर हो गई है। वहीं, कांग्रेस का कहना है कि कमलनाथ ने इमरती देवी का नाम नहीं लिया है। भाजपा उपचुनाव में घटिया राजनीति कर रही है।