समाचार
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री चौहान ने की 1 जून से अनलॉकिंग प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा

मध्य प्रदेश में कोविड-19 के मामलों में कमी आने के बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार (25 मई) को घोषणा की कि राज्य 1 जून से अनलॉकिंग की प्रक्रिया शुरू करेगा।

हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में बोलते हुए शिवराज सिंह चौहान ने कहा, “मध्य प्रदेश कोविड-19 पर नियंत्रण पाने की कगार पर है। साथियों यह आपकी मेहनत के साथ जनता के प्रयासों, संकट प्रबंधन समिति और प्रशासन के कारण संभव हो पाया है।”

उन्होंने कहा, “आज सिर्फ 2,424 नए मामले आए हैं और 7,373 लोग संक्रमण से उबरे हैं। राज्य की महामारी से उबरने की दर 92.68 प्रतिशत हो गई है। करीब 15 जिलों में 10 से कम मामले आए हैं। मंगलवार की संख्या सोमवार की तुलना में 512 मामले कम है। सोमवार को 2,936 लोग परीक्षण में संक्रमित निकले थे। गत सप्ताह राज्य में दैनिक मामले 3,000 से 5,000 के बीच थे।”

तीसरी लहर की आशंकाओं पर मुख्यमंत्री ने कहा, “इसके लिए एक प्रक्रिया तैयार होनी चाहिए। जो मंत्री जिलों के प्रभारी हैं, उन्हें संबंधित संकट प्रबंधन समिति से बात करनी चाहिए और योजना बनानी चाहिए कि कैसे कर्फ्यू खुलेगा। यह भी सुनिश्चित करना होगा कि कोई भी संक्रमित व्यक्ति सुपर स्प्रेडर न बने। इसके लिए प्रतिदिन कोविड के 75,000-80,000 नमूनों की जाँच के साथ परीक्षण जारी रहेगा।”

उन्होंने आगे कहा, “महामारी से निपटने के लिए राज्य सरकार पाँच समितियाँ बनाएगी। इनमें मंत्रिपरिषद के सदस्य होंगे। ये समितियाँ टीकाकरण अभियान, कोविड से संबंधित प्रथाओं का प्रबंधन, चिकित्सा ऑक्सीजन व अन्य आवश्यक चीजों की व्यवस्था, अस्पताल प्रबंधन और कोविड-19 के बारे में जागरूकता फैलाएँगी।”