समाचार
मोदी ने ‘आंदोलनजीवियों’ पर गुमराह करने का आरोप लगाकर निजी क्षेत्र का किया समर्थन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में कहा कि यदि पब्लिक सेक्टर ने देश के विकास में योगदान दिया है तो निजी क्षेत्र ने भी अपनी भूमिका निभाई है। लोगों को सस्ता डाटा मिलने और विभिन्न क्षेत्रों में सकारात्मक प्रतिस्पर्धा लाने का श्रेय भी उन्होंने निजी क्षेत्र को दिया।

उन्होंने पूछा, “क्या ऊर्वरक फैक्टरियाँ आईएएस चलाएँगे? क्या देश को बाबुओं के हाथ में दे देना चाहिए?” ‘आंदोलनजीवियों’ पर उन्होंने देश को गुमराह करने का आरोप लगाया। साथ ही विपक्ष पर विकास के मुद्दे की बात न करने के लिए निशाना साधा।

किसान आंदोलन में जिस तरह से टेलीकॉम टावर तोड़े गए, टॉल नाके घेर गए, उसे मोदी ने पवित्र आंदोलन को कलंकित करने का प्रयास कहा। उन्होंने कहा, “ये काम आंदोलनकारियों ने नहीं बल्कि आंदोलनजीवियों ने किया है।”