समाचार
डीबीटी से वित्तीय वर्ष 2019 में मोदी सरकार ने की 51,665 करोड़ रुपये की बचत

भारत सरकार ने डाइरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) से वित्तीय वर्ष 2019 में पिछले सभी वर्षों की कुल बचत के आधे से अधिक राशि बचाई है। 2014 से 2018 के बीच डीबीटी से 90,000 करोड़ रुपये बचाए गए, हिंदू बिज़नेसलाइन  ने रिपोर्ट किया। वहीं पिछले वित्तीय वर्ष में 51,664.85 करोड़ रुपये की बचत हुई है।

इस योजना के अंतर्गत 4.23 करोड़ फर्जी एलपीजी कनेक्शन की पहचाने गए और मोदी सरकार ने अपने पहले पाँच सालों में इन्हें हटाया। इसी प्रकार 2.98 करोड़ फर्जी राशन कार्डों को भी हटाया गया।

राष्ट्रीय सामाजिक सहयोग योजना के अंतर्गत 4.77 लाख फर्जी लाभार्थियों को भी हटाया गया है। इसी प्रकार कई लाख फर्जी साभार्थियों की पहचान कर ग्रामीण रोजगार मिशन के अंतर्गत भी 10 प्रतिशत की बचत हुई है।

किसानों को खाद सब्सिडी पर डीबीटी दी जाने से अपेक्षा है कि बचत के आँकड़े और बढ़ेंगे।