समाचार
मोदी के मंत्रीमंडल पर से उठता पर्दा, स्मृति ईरानी के अलावा कई नए चेहरे हो सकते हैं

कौन-सा मंत्रालय किसके खाते में जाएगा यह बात पिछले 24 घंटों में धीरे-धीरे लोगों के सामने आ रही है। एनडीए-2 के कैबिनेट गठन हेतु मोदी और अमित शाह के घर पर कई बैठकों को होते देखा गया है, एनडीटीवी  ने रिपोर्ट किया।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह ने उन लोगों को फ़ोन लगाया है जो नई सरकार में मंत्री होंगे। इन सभी को शाम 5 बजे प्रधानमंत्री निवास पर आमंत्रित किया गया है। इस सूची में सुष्मा स्वराज, निर्मला सितारमन, स्म-ति ईरानी, सदानंद गौड़ा, अर्जुन मेघवाल, किरण रिजिजु, रवि शंकर प्रसाद, पीयूष गोयल, प्रकाश जावड़ेकर, रामदास अठावले, जितेंद्र सिंग, बाबुल सुप्रीयो, सुरेश अंगदी, कैलाश चौधरी, प्रह्लाद जोशी, प्रताप सारंग और जी किशन रेड्डी हैं।

पार्टी को इतनी प्रचंड जीत दिलाने वाले अमित साह को भी मंत्रीमंडल में सम्मिलित किया जा सकता है। अमेठी का गढ़ ढहाकर राहुल गांधी को हराने वाली स्मृति ईरानी को भी किसी बड़े मंत्रालय से पुरस्कृत किया जा सकता है।

303 सासंदों के साथ बहुमत प्राप्त करने वाली पार्टी अपने सहयोगियों को भी खुश करने के प्रयास में है। अकाली दल की हरसिमरत कौर बादल और शिवसेना के अरविंद सावंत को भी मंत्रीमंडल में जगह मिल सकती है।

इस मंत्रीमंडल में कुछ नए चेहरे भी देखने को मिल सकते हैं। हरियाणा के रतन लाल कटारिया, उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रमेश पोखरियाल निशांक, नीतीश कुमार के सहयोगी आरसीपी सिंह, तेलंगाना भाजपा अध्यक्ष जी किशन रेड्डी, प्रह्लाद जोशी, ए रवींद्रनाथ, कैलाश चौधरी, सोम प्रकाश, रामेश्वर तेल, डिंपल यादव को कन्नौज में हराने वाले सुब्रत पाठक और पश्चिम बंगाल से देबोश्री चौधरी इस मंत्रीमंडल में हो सकते हैं।