समाचार
कैफे कॉफी डे संस्थापक वीजी सिद्धार्थ का मंगलुरु के पास नेत्रावती नदी किनारे मिला शव

कैफे कॉफी डे के संस्थापक वीजी सिद्धार्थ का शव बुधवार को मंगलुरु के पास नेत्रावती नदी के किनारे पाया गया। कॉफी किंग 29 जुलाई की शाम को नेत्रावती नदी पर उल्लाल पुल से लापता हो गए थे।

न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एसएम कृष्णा के दामाद वीजी सिद्धार्थ को खोजने के लिए जिला प्रशासन ने बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान शुरू किया था। उनका शरीर आज सुबह नेत्रावती नदी के तट पर पाया गया।

मंगलुरु के पुलिस आयुक्त संदीप पाटिल ने कहा, “हमें आज सुबह शव मिला, जिसकी पहचान की जरूरत है। हमने परिवार के सदस्यों को पहले ही सूचित कर दिया। हम शव को वेनलॉक अस्पताल भेज रहे हैं और आगे की जाँच जारी रखेंगे।”

इससे पहले, सोमवार 29 जुलाई की शाम को सीसीडी के संस्थापक कथित तौर पर बेंगलुरु से लगभग 375 किमी दूर मंगलुरु के पास नेत्रावती नदी के पार उल्लाल पुल के पास अपनी कार से उतर गए लेकिन एक घंटे बाद भी वापस नहीं आए। उनका ड्राइवर उन्हें ढूँढता रहा लेकिन वह कहीं नहीं मिले। इस पर उसने परिवार के सदस्यों को बताया और फिर पुलिस को सूचित किया।

इस घटना के बाद सिद्धार्थ का लिखा एक पत्र भी मीडिया में सामने आया। इसमें सीसीडी के कर्मचारियों और बोर्ड को संबोधित किया गया था। उन्होंने लिखा, “मैं कहना चाहूँगा कि मैंने इसे अपना सब कुछ दिया। मुझे उन सभी लोगों को निराश करने का बहुत अफसोस है, जिन्होंने मुझ पर भरोसा किया। मैंने लंबे समय तक संघर्ष किया लेकिन आज मैंने हार मान ली।”